Breaking News

विंढमगंज रेंज में बेख़ौफ़ चल रहा अवैध रेत का खेल

विंढमगंज रेंज में बेख़ौफ़ चल रहा अवैध रेत का खेल

अवैध खनन से सरकार को हो रहा लाखो के राजस्व की क्षति

रिपोर्ट/बाबू लाल शर्मा(गोविंन्दपुर)

थाना एवं वन क्षेत्र विंढमगंज के कनहर नदी में रात में इन दिनों अवैध रेत खनन का खेल जोरो शोरो से चल रहा है।जिनके कंधों पर अवैध खनन रोकने की जिम्मेदारी सौंपी गई है वही अपनी कथित हिस्सेदारी लेकर मौन है।सूत्रों की माने तो ये दिनों खनन कर्ता पुरे दिन रेत के खरीददारों के तलाश में विंढमगंज से सटे झारखण्ड के आस पास के

गाँवो में घूमते रहते है और रात होते ही एक तय रणनीति के अनुसार वन विभाग और पुलिस विभाग से स्वीकृति लेकर क्षेत्र के नदियों से अवैध रेत खनन का खेल शुरू कर देते है।मध्य रात्रि से शुरू हुआ ये रेत खनन का खेल बेख़ौफ़ भोर होते तक चलता रहता है।अवैध खनन में लिप्त ट्रैक्टर संचालकों से यह कहते हुए सुना जाता है कि पैसा फेको तमासा देखो की तर्ज पर सब खेल सिस्टम से चल रहा है।जिस से प्राकृतिक संसाधनों को आने वाले दिनों में सुरिक्षित रख पाना संभव नहीं है।ग्रामीणों की माने तो विंढमगंज क्षेत्र के मालिया नदी और कनहर नदी से अवैध खनन में दर्जनों ट्रेक्टर लिप्त है।कनहर नदी का बालू रत के अंधेरे में खनन कर मेदिनिखाड़,मुनिसेमर, के रास्ते झारखण्ड में सप्लाई करने की चर्चा चल रही है।वैसे तो वन विभाग की टीम और तहसील प्रसाशन की टीम अवैध खनन को लेकर छापेमारी करती रहती है।लेकिन खनन कर्ताओ द्वारा तू डाल डाल मैं पात पार की तर्ज पर बेख़ौफ़ खनन को अंजाम दिया जा रहा है।ग्रामीणों की माने तो विंढमगंज क्षेत्र में दोनों विभागों का महीने का इंट्री फिक्स है जिसके कारण अधिकारियो के आने की सुचना खनन कर्ताओ के पास पहले ही पहुच जाती है।हद तो तब हो गयी जब अवैध खनन के खिलाफ आवाज उठाने वाले विधायक भी मौन है।ग्रामीणों ने कनहर नदी में चल रहे अवैध रेत खनन की जिला प्रशासन से गोपनीय जाँच करा कर के दोषियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग की है ताकि कनहर नदी का अस्तित्व बचा रहे।इस मामले को लेकर विंढमगंज रेंजर विजेंद्र श्रीवास्तव का कहना है कि मुझे कही भी खनन की शिकायत नही मिली है।

Check Also

मेहंदी प्रतियोगिता हुयी संपन्न

🔊 इस खबर को सुने Babu lal Sharma मेहंदी प्रतियोगिता हुयी संपन्न रिपोर्ट/बाबू लाल शर्मा(गोविंन्दपुर) …